11 अक्टूबर को  763 गांव के लोगों को आखिर क्या बांटने जा रहे हैं पीएम मोदी?

नई दिल्ली। ग्रामीण भारत में परिवर्तन और लाखों भारतीयों को सशक्त बनाने की मुहिम के तहत ऐतिहासिक कदम उठाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 अक्टूबर को स्वामित्य योजना (SVAMITVA) के तहत 763 गांव के लोगों को ज़मीन के मालिकाना हक के कागज़ात सौंपेंगे। 

इस के तहत कुल 1.32 लाख लोगों को पीएम मोदी के ज़रिए ज़मीन के मालिकाना हक के कागज़ात सौंपे जाएंगे। इस कदम के ज़रिए गांव में ज़मीनी विवादों को सुलझाने में मदद मिलेगी।

इस योजना के तहत अगले चार वर्षों में कुल 6.62 लाख गावों में ज़मीनी हक वाले कागज़ातों का बंटवारा किया जाएगा। गौरतलब है कि सरकार के पास गांव की आबादी वाली ज़मीन का कोई रिकॉर्ड नहीं है और ऐसे में इस योजना के तहत सरकार इन ज़मीनों का रिकॉर्ड अपने पास रख पाएगी। 

इस रिकॉर्ड की मदद से गांव के लोगों को उनकी ज़मीन पर बैंकों से ऋण भी आसानी से मिल पाएगा। पीएम मोदी वीडियो क्रांफ्रेंस के ज़रिए गांव के लोगों को ये ज़मीनी कागज़ात सौंपेंगे।

पीएम मोदी ने 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस पर स्वामित्व योजना की घोषणा की शुरुआत की थी। इस योजना की शुरुआत के तहत लोग अपने फोन पर एसएमएस लिंक के ज़रिए इस संपत्ति कार्ड को डाउनलोड कर सकेंगे।

उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी करीह 763 गांवों को ये कार्ड सौपेंगे। इसमें उत्तरप्रदेश के 346, हरियाणा के 221, महाराष्ट्र के 100, मध्यप्रदेश के 44, उत्तराखंड के 50 और कर्नाटक के 2 गांव शामिल हैं। 

इस कार्यक्रम का प्रसारण 11 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से होगा। इस कार्यक्रम में पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी पीएम मोदी के साथ शामिल होंगे। 

11 octSVAMITVAपीएम मोदीस्वामित्य योजना