हाथरस कांड : एसआईटी ने गांव जाकर पीड़ित परिवार के बयान लिए

हाथरसः हाथरस कांड की जांच कर रही स्पेशल इनवेस्टिंग टीम (एसआईटी) ने रविवार को पीड़िता के घर जाकर उसके परिजनों के बयान दर्ज किए। इससे पहले एसआईटी की पहली रिपोर्ट के आधार पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हाथरस के पुलिस अधीक्षक (एसपी), पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) के साथ-साथ कुछ अन्य पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने पॉलीग्राफ व नार्को टेस्ट की भी अनुशंसा की है।

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की संस्तुति की है। इस मामले को लेकर देशभर में उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों, सिविल सोसायटीज द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी व उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी शनिवार को पीड़ित परिवार से मुलाकात की। प्रदेश सरकार ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को पांच लोगों के साथ गांव जाने की अनुमति प्रदान की थी। प्रियंका गांधी ने पीड़िता की मां को गले लगाया था, यह फोटो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है।

19 वर्षीय पीड़िता की 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई थी। मामले के चारों आरोपितों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Hathrasहाथरस