भारत में अपने बाजार को खिसकते देख व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी की नीति को टाला

भारत में अपने बाजार को खिसकते देख व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी की नीति को टाला

नई दिल्ली। भारत में अपने बाजार को खिसकते देख व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी की नीति को टाल दिया है।

सूत्रों के अनुसार भारत में अपने बाजार को खिसकते देख व्हाट्सएप ने यहाँ के लिये अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को फिलहाल लागू करने से टाल दिया है। भारत में व्हाट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी आगामी आठ फरवरी से लागू होने जा रही थी , जिसे अब 15 मई तक के लिये टाल दिया गया है। वहीं, व्हाट्सएप भारत के लिये लागू होने वाली प्राइवेसी पॉलिसी की समीक्षा भी कर रहा है।

व्हाट्सएप ने स्पष्ट किया है कि नई प्राइवेसी पॉलिसी के तहत भी उपभोक्ता के बातचीत , उसके लोकेशन या किसी अन्य चीजों की जानकारी फेसबुक या किसी अन्य से शेयर नहीं की जायेगी।

दूसरी तरफ कंपनी ने यह भी साफ किया कि है कि प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करने वाले ग्राहकों के एकाउंट को बंद या निलंबित नहीं किया जायेगा।

वर्तमान में व्हाट्सएप पर ग्राहकों को चार सुविधायें मिलती है। पहली सुविधा एक दूसरे से बातचीत करने की है। दूसरी सुविधा यह है कि व्हाट्सएप छोटे बिज़नेस के लिये एप्प के तौर पर काम करता है। तीसरे प्लेटफॉर्म के तौर पर व्हाट्सएप मेक माई ट्रिप, टाटा स्काई या बुक माई शो जैसे बड़े स्टार्टअप के लिये भी काम करता है।चौथे सुविधा के तौर पर व्हाट्सएप पेमेंट एप्प के रूप में काम कर रहा है।

गौरतलब है कि व्हाट्सएप पर फेसबुक के साथ अपने ग्राहकों का डाटा शेयर करने का आरोप है, जिस कारण ग्राहक इसका इस्तेमाल करना बंद कर रहे हैं। प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवाद के कारण पिछले एक सप्ताह में भारत में व्हाट्सएप की डाउनलोडिंग में लगभग 35 फीसदी की गिरावट आई है।

बातचीत के लिये व्हाट्सएप की तरह इस्तेमाल होने वाले टेलीग्राम और सिग्नल एप्प को पिछले दस दिनों में 40 लाख नये ग्राहकों ने डाउनलोड किया है।
भारत में व्हाट्सएप के लगभग 40 करोड़ उपभोक्ता हैं।

WhatsappWhatsappStatusकी नीति को टालाने अपनीप्राइवेसी पॉलिसीभारत में अपने बाजार को खिसकते देखव्हाट्सएप