क्या 35 दिन से चल रहा किसान आंदोलन आज खत्म हो जाएगा ?

आज किसान संघठनों और सरकार के बीच सातवें दौर की बैठक 2 बजे से विज्ञानं भवन में जारी है, इस बैठक से केंद्र सरकार को बहुत उम्मीद है की पिछले 35 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन का समाधान आज निकाल जाएगा।

हालांकि पहले किसान और सरकार में हुई बैठक बिलकुल बेअसर साबित हुई थी, और अब इस सातवें दौर की वार्ता से पहले ही दोनों पक्षों ने ये साफ कर दिया है वो अपने स्टैंड पर कायम हैं, किसानों की मांग है कि कानून वापस लिया जाए जबकि सरकार कह चुकी है कि कानून वापस करना नामुमकिन है।

इस बीच आज रक्षा मंत्री ‘राजनाथ सिंह’ का भी किसान आंदोलन को लेकर बयान सामने आया, रक्षा मंत्री ने अपने आप को भी एक किसान का बेटा बताया और कनाडा के प्रधानमंत्री की टिप्पणी को लेकर रक्षा मंत्री ने नाराजगी जाहिर की, उन्होंने कहा, ”मैं दुनिया के किसी भी प्रधानमंत्री से कहना चाहूंगा कि भारत के आंतरिक मामलों में बोलना बंद करें, भारत को किसी के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है, हम लोग आपस में बैठकर समस्याओं का समाधान करेंगे, यह भारत का आंतरिक मामला है दुनिया के किसी देश को भारत के आंतरिक मामलों में बोलने का हक नहीं है, भारत ऐसा वैसा देश नहीं है किजो चाहे वो बोल दे,’

विज्ञानं भवन में किसानों ने लगाया लंगर, खाया मंत्रियों ने

आज बैठक में किसानों ने लंच के दौरान लंगर लगाया, और विज्ञानं भवन में एक ऐसा नज़ारा देखने को मिला जो किसी ने नहीं देखा होगा, लंगर में रेल मंत्री “पियूष गोयल” कृषि मंत्री “नरेंद्र सिंह तोमर” एवं अन्य मंत्री शामिल हो गए, किसानों ने भी मंत्रियों का लंगर में स्वागत किया और सभी ने साथ में लंच किया,और किसान मंत्रियों के साथ सेल्फी लेते हुए भी नज़र आए,

किसान आंदोलन