कृषि बिल पास होने के बाद जानिए प्रधानमंत्री मोदी ने कौन सी चार बातें कहीं

नई दिल्ली। संसद में कृषि से सम्बंधित तीन बिलों के पास होने से केंद्र सरकार को विरोध झेलना पड़ रहा है। लंबे समय से एनडीए की सहयोगी रही शिरोमणी अकाली दल की एकमात्र कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने खाद्य प्रसंस्करण मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया। हालांकि एनडीए की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बिल को किसानों के लिए हितकारी बता रहे हैं। उन्होंने इस बाबत चार ट्वीट कर स्तिथि को स्पष्ट करने की कोशिश की।

पहले ट्वीट में उन्होंने कहा कि ‘लोकसभा में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयकों का पारित होना देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। ये विधेयक सही मायने में किसानों को बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त करेंगे।’

दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि ‘इस कृषि सुधार से किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए-नए अवसर मिलेंगे, जिससे उनका मुनाफा बढ़ेगा। इससे हमारे कृषि क्षेत्र को जहां आधुनिक टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, वहीं अन्नदाता सशक्त होंगे।’

प्रधानमंत्री ने इस बाबत एक और ट्वीट कर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा , ‘किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई हैं। मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वस्त करता हूं कि MSP और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी। ये विधेयक वास्तव में किसानों को कई और विकल्प प्रदान कर उन्हें सही मायने में सशक्त करने वाले हैं। ‘

वहीं चौथे ट्वीट में उन्होंने कृषि मंत्री की ओर से इस मुद्दे पर दिए भाषण को लोगों से सुनने की अपील की।

लोकसभा में कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य, संवर्द्धन और सुविधा विधेयक-2020, कृषक सशक्तिकरण एवं संरक्षण, कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 साढ़े पांच घंटे की चर्चा के बाद पारित हो गया। इस दौरान विपक्ष ने वॉकआउट किया। वहीं, इससे संबंधित आवश्यक वस्तु (संशोधन) बिल मंगलवार को ही पास हो चुका है।

AgricultureNARENDRA MODIकृषि बिलपीएम मोदीहरसिमरत कौर बादल