kukrukoo
A popular national news portal

मकर संक्रांति 2021 : पर्व एक पर स्वरूप अनेक,कहीं पतंग उड़े तो कहीं बनी खिचड़ी

मकर संक्रांति 2021 : पर्व एक पर स्वरूप अनेक,कहीं पतंग उड़े तो कहीं बनी खिचड़ी

देशभर में धूमधाम से मनाया जाने वाला पर्व मकर सक्रांति को देश के विभिन्न राज्यों में अलग-अलग तरह से हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। यह त्यौहार हर साल 14 और 15 जनवरी को पूरे देश में मनाया जाता है, जब सूर्य धनु से मकर राशि में प्रवेश करता है। यह भारतीय संस्कृति की अनेकता में एकता का त्यौहार है।मकर संक्रांति 2021 : पर्व एक पर स्वरूप अनेक,कहीं पतंग उड़े तो कहीं बनी खिचड़ी।

भारत के विभिन्न राज्यों में इस त्यौहार को भारत की परंपरा और संस्कृति के अनुसार ही मनाया जाता है। अन्य त्योहारों की तरह भी मकर संक्रांति का त्यौहार विभिन्न राज्यों, शहरों और गांवों में भारतीय परंपराओं के अनुसार धूमधाम से मनाया जाता है। आइए जानते हैं कि भारत के विभिन्न भागों में मकर सक्रांति का यह त्यौहार कैसे मनाया जाता है।
विभिन्न राज्यों में मकर संक्रांति का त्योहार विभिन्न प्रकार से मनाया जाता है।

1. उत्तर प्रदेश में मकर सक्रांति के त्यौहार को खिचड़ी महोत्सव कहा जाता है। इस दिन सूर्य की पूजा करने के बाद लोग चावल, पल्स खिचड़ी बनाते है और खिचड़ी दान करना तथा परिवार में एक साथ भोजन किया जाता है।

2 . गुजरात में मकर संक्रांति को पतंग उत्सव भी कहा जाता है। लोग अपने अपने घरों में तिल के लड्डू और कई अलग-अलग तरह के व्यंजन बनाते हैं। इसके अलावा वहां के लोग आते हैं।

3. राजस्थान में बिहार को उत्तरायण महोत्सव के रूप में मनाया जाता है और यहां इस दिन सामुदायिक रूप से पतंग महोत्सव का आयोजन किया जाता है। जहां लोग पतंग प्रतियोगिता इत्यादि रखते हैं।

4.  आंध्र प्रदेश में त्यौहार को संक्रांति के नाम से मनाया जाता है और बता दूं, कि प्रदेश में यह त्यौहार लगातार तीन दिनों तक धूमधाम से मनाया जाता है।

5.  तमिलनाडु में मकर संक्रांति का त्यौहार खासकर किसानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। वहां के लोग इसे पोंगल के रूप में मनाते हैं। यहां दाल चावल की खिचड़ी को शुद्ध घी में पकाया जाता है

6. महाराष्ट्र के लोग इस दिन सूरज की पूजा करते हैं और गजक व तिल के लड्डू का आनंद उठाते हैं।

7. पश्चिम बंगाल में मकर सक्रांति के दिन हुगली नदी पर गंगा सागर का शानदार मेला आयोजित किया जाता है।

8.  असम में मकर संक्रांति के त्योहार को भोगली बिहू के रूप में मनाया जाता है। इस दिन वहां के लोग हो नाच गाना कर हर्षोल्लास के साथ इस त्यौहार का आनंद उठाते हैं।

9. पंजाब में मकर संक्रांति का त्यौहार लोहरी के रूप में मनाया जाता है। बता दूं कि मकर सक्रांति से 1 दिन पहले पंजाब के लोग लोहरी के रूप में इस त्यौहार का आनंद उठाते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like