kukrukoo
A popular national news portal

डब्ल्यूएचओ की टीम ने कोरोना मामले में चीन को क्लीन चिट दी, जानिये कैसे?

डब्ल्यूएचओ की टीम ने कोरोना मामले में चीन को क्लीन चिट दी, जानिये कैसे?  डब्ल्यूएचओ ने चीन के प्रति अपने प्रेम का आखिरकार इजहार कर दिया। चीन के वुहान में अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों का एक दल वायरस से संबंधित अध्ययन के लिए पहुंचा था। इस अध्ययन में यह पता लगाया जाना था कि आखिरकार यह वायरस कैसे फैला मतलब इसका श्रोत क्या है?

टीम ने कहा कि उसे अध्ययन में वुहान में दिसंबर से पहले वायरस के प्रसार के कोई सबूत नहीं मिली है। साथ ही टीम ने यह भी कहा कि इस वायरस के लैब से लीक होने की संभावना बेहद कम है। दरअसल, यह कयास लगाए जा रहे थे कि वायरस चीन के ही किसी लैब से लीक  हुआ है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी इसी तरह की धारणा को बल दिया था। चीन के इंस्टिट्यूट ने हालांकि इस बात को पहले ही खारिज कर दिया था।

उल्लेखनीय है कि WHO की टीम वायरस का पहला मामला आने के करीब 1 साल बाद वुहान पहुंच पाई और इस अध्ययन को पूरा किया। लेकिन डब्ल्यूएचओ की टीम ने करीब करीब चीन को वायरस फैलाने के  आरोपों से मुक्त कर दिया।

इस टीम के सदस्य ने यह भी कहा कि वायरस फ्रोजन फूड से भी फैल सकता है। हालांकि इसके कोई सबूत टीम ने नहीं दिखाएं। दूसरी ओर इस  वायरस के चमगादर या पैंगोलिन से फैलने के तथ्य को भी नकारा नहीं जा सकता।

डब्ल्यूएचओ की टीम ने कोरोना मामले में चीन को क्लीन चिट दिया, जानिये कैसे?

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like