kukrukoo
A popular national news portal

अकाली दल ने एनडीए के साथ छोड़ा, किसानों का प्रदर्शन अभी भी जारी

चंडीगढ़। अकाली दल ने कृषि बिलों के विरोध में 25 साल पुराने अपने सहयोगी एनडीए के साथ छोड़ दिया । इसपर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि अकाली दल ने मज़बूरी में आकर यह फैसला लिया है। इससे पहले अकाली दल से एकमात्र केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। दूसरी ओर किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी है।

जब किसान के बेटे को गोबर से बू आने लगे तो समझ जाना कि देश बर्बाद हो गया है – प्रेमचंद जी द्वारा कि गयी इस बात से अंदाजा मिल जाता है कि किसान हमारे देश के लिए कितना महत्वपूर्ण है।

लेकिन किसान इनदिनों बहुत नाराज़ दिख रहें है और पूरे देश में किसान विधेयकों के खिलाफ शुक्रवार से ही ‘संगठित विरोध’ कर रहें है और इस विरोध प्रदर्शन कि डोर विपक्षी पार्टियों ने संभाल ली है।

किसानों ने आंदोलन के चलते देश भर में भारत बंद का आगाज़ किया जिसमें –
. पंजाब में आंदोलनकारियों ने 13 जोड़ी ट्रैन टर्मिनेट की।
. दिल्ली नॉएडा हाईवे बंद कर किसानों उसपर हुक्का पीते नज़र आए |
.पटना में विपक्ष और RJD नेता ‘तेजस्वी यादव’ भी किसानों के साथ आंदोलन में उतरे और साथ ही साथ ‘तेज़ प्रताप यादव’ भी ट्रेक्टर के ऊपर चढ़ विरोध करते नज़र आए जिसमें हज़ारो किसानों कि भीड़ साथ थी |

कांग्रेस, राजद, समाजवादी पार्टी, अकाली दल, आप , टीएमसी समेत कई राजनितिक दल किसान आंदोलन में बढ़- कर हिस्सा लेते दिखे और इसको बड़ा मुद्दा बनाने में कामयाब रहें |

किसान विधेयक पर राहुल गाँधी का ट्वीट भी सामने आया

राहुल गाँधी ने ट्वीट किया – “एक त्रुतीपूर्ण जीएसटी ने सूक्ष्म, लघु, और मध्यम उद्योग को बर्बाद कर दिया, नए कृषि कानून हमारे किसानों को गुलाम बना देंगे” |

वहीं प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ एक वर्चुअल रैली कार्यक्रम में बात-चीत की और किसान बिल का विरोध कर रहें विपक्ष कि आलोचना करते हुए अपने कार्यकर्ताओं को किसानों के बीच जाकर उनके संदेह दूर करने की सलाह दी | उन्होंने विपक्ष को निशाना बनाते हुए कहा की आज़ादी के बाद आए विधेयक में से यह विधेयक किसानों के लिए सबसे ज्यादा लाभकारी होगा |

(इनपुट – सागर चौहान)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like